India's Largest Online Store for Panchgavya (Cow) Products!
Set Descending Direction

1-10 of 61

Page:
  1. 1
  2. 2
  3. 3
  4. 4
  5. 5

Are you drinking white poison in from of milk?

Friday, April 10, 2015 12:11:54 AM Asia/Calcutta

It is becoming increasingly difficult for food, agriculture and public health professionals to ignore the issue of A2 versus A1 milk. A1 milk has now been implicated in relation to Type I diabetes, heart disease, autism and schizophrenia.

Read More
Comments | Posted in News By Rhiday Yadav

Traditional claims of Panchgavya

Friday, April 10, 2015 12:16:55 AM Asia/Calcutta

he description of cow being the abode of all Gods and the medium of achieving Dharma, Artha, Kama and Moksha is found in many ancient Indian texts. Ayurveda has given utmost importance to cow’s milk, curd, ghee, urine and dung at various places. These substances are called Gavya in Ayurveda. When the five are considered together, they are called Panchgavya.

Read More
Comments | Posted in News By Rhiday Yadav

Seeding the real Green Revolution

Sunday, April 12, 2015 10:31:01 PM Asia/Calcutta

Can One man and One cow Save our Planet?: Seeding the real Green Revolution Why on earth would an 80 year old New Zealander pack his bags for good to spend the rest of his life in rural India, teaching farmers how to swirl cow dung in a vortex of water?

Read More
Comments | Posted in Gau Social By Rhiday Yadav

Cow Urine Therapy in Cancer Patients

Tuesday, April 14, 2015 12:09:49 AM Asia/Calcutta

Study conducted under the supervision of the ethical committee, Raj. Go Seva Ayog (Raj. Govt) at Raj. Go seva Sangh, Rani Bazar Choraha, Bikaner (Raj.) Modern Medical Science includes combined modality (Including surgery chemotherapy & Radiotherapy) of cancer management. In case of locally advanced cancer, selection of the modality is difficult. Most of the time treatment is palliative.

Read More
Comments | Posted in Gau Social By Rhiday Yadav

गौसेवा से बदला भाग्य

Wednesday, May 6, 2015 10:53:49 PM Asia/Calcutta

गौसेवा से बदला भाग्य

गौसेवा से बदला भाग्य</h2>गीताप्रेस गोरखपुर की 'कल्याण पत्रिका में छपी यह एक किसान के जीवन की सत्य घटना है। उसने लिखा है – मेरे पूर्वज गाँव में सदा सम्पन्न रहे। मेरे पिता जी का जीवन भी उन्नत रहा। उनकी ईश्वर उपासना और गौ सेवा में विशेष रूचि थी। इससे घर में खूब सम्पन्नता थी। पिता जी के बाद गृहस्थी की सारी जिम्मेदारी मुझ पर आ गयी किंतु मैं न तो गायों की देखभाल करता और न ही ईश्वर के लिए समय निकालता।

Read More
Comments | Posted in Gau Social By Rhiday Yadav

Research Works on GauMutra

Wednesday, May 6, 2015 11:46:53 PM Asia/Calcutta

Use of Gau-Mutra for therapeutic purpose is well known to Indians from Ancient times. In Ayurveda, Gau-Mutra is used as one of the main ingredients of Panchagavya. The Gau-Mutra is quite useful in pharmaceutical purpose and also for organic farming.

In modern science also, a lot of research work is going on to unearth the magical effects of Gau-Mutra. Various organisations doing research on Gau-Mutra have also filed patents for these.

As per their research, Gau-Mutra has antifungal and antibiotic properties and it can also be used to cure diseases like cancer and diabetes.

Read More
Comments | Posted in GauVighan By Admin GauKranti.org

रायपुर। गौ माता की रक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करने और गायों को भूख से बचाने के लिए सिंधी समाज के युवाओं ने एक अनोखी पहल की शुरू की है। समाज के कुछ युवाओं की टोली अपना दिनभर का काम निपटाने के बाद रात्रि में दो घंटे 9 से 11 बजे तक गायों को रोटी खिलाने निकलते हैं और आसपास के लोगों को भी इस अभियान से जुड़ने और रोटी खिलाने के लिए जागरूक करने में लगे हैं। वे युवा लोगों से अपील करते हैं कि अपनी थाली की पहली रोटी गाय को खिलाएं। युवाओं के इस अभियान से दूसरे लोग भी प्रेरित हो रहे हैं और संस्था के साथ जुड़ रहे हैं।

Read More
Comments | Posted in News By Rhiday Yadav

नवभारत टाइम्स की एक खबर के अनुसार राजस्थान सरकार ने छठवीं से आठवीं क्लास तक के सिलेबस में संशोधन कर गोरक्षा सम्बंधित पाठ्यक्रम को जोड़ दिया है। इस सिलेबस में महाराणा प्रताप, आर्यभट्ट, चाणक्य जैसे व्यक्तित्वों के बारे में डीटेल में जानकारी दी जाएगी।

स्टेट इंस्टिट्यूट ऑफ एजुकेशनल रिसर्च ऐंड ट्रेनिंग (SIERT) के प्रमुख प्रदीप पनेरी ने गुरुवार को बताया,'इस सेशन के लिए सिलेबस रिवाइज किया गया है। 

Read More
Comments | Posted in News By Admin GauKranti.org

Shri Shiv Gaushala-Ghaziabad

Monday, May 18, 2015 12:03:56 AM Asia/Calcutta

Shri Shiv Gaushala at Merrut road Ghaziabad is shelter the hundreds of cows protected from slaughterhouses.Thakur Sangram Singh has devoted his life for GauSeva and we as a society can help by donating to this great nobel cause of Gau Seva

Read More
Comments | Posted in Gaushala By admin GauKranti.Org

Beef Ban -No Beef in Vedas

Monday, May 18, 2015 11:21:27 PM Asia/Calcutta

With blanket Beef Ban in various Indian states like Maharashtra,Hariyana and Chattisgarh the dream of GauMata as Rashtra Mata is becoming stronger.Lets see what Vedas the guiding priciples of Hinduism tells us about Gau Mata

Read More
Comments | Posted in Gau Social By admin GauKranti.Org
Set Descending Direction

1-10 of 61

Page:
  1. 1
  2. 2
  3. 3
  4. 4
  5. 5
 

Latest GauKranti Blogs & News

  • आज का हमारा युवा-वर्ग हमारे ऋषियों-मुनियों द्वारा बताई गई ज्ञान और उपयोगिता से बहुत दूर होता गया है लेकिन आज भी बड़े-बड़े वैज्ञानिक उन्ही चीजो की खोज आज करके भी उसी प्रमाणिकता को प्राप्त करते है जो हमारे पूर्वजो ने की थी क्या आपको पता है कि गाय के घी में कितनी गुणवत्ता है शायद बहुत कम लोगो को है आइये जानते है गाय के देशी घी का महत्व हमारे जीवन में - यज्ञ में देशी गाय के घी की आहुतियां देने से पर्यावरण शुध्द होता है गाय के घी में चावल मिलाकर यज्ञ में आहुतियां देने से इथिलीन आक्साइड और फाममोल्डिहाइड नामक यौगिक गैस के रूप में उत्पन्न होते हैं इससे प्राण वायु शुध्द होती है ये दोनों यौगिक जीवाणरोधक होते हैं

    Posted By:   Rhiday Yadav        Read More >>


  • आम तौर पर सर्दी होने या शा‍रीरिक पीड़ा होने पर घरेलू इलाज के रूप में हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं, कि हल्दी वाले दूध के एक नहीं अनेक फायदे हैं? नहीं जानते तो हम बता रहे हैं- हल्दी अपने एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुणों के लिए जानी जाती है, और दूध, कैल्शि‍यम का स्त्रोत होने के साथ ही शरीर और दिमाग के लिए अमृत के समान हैं। लेकिन जब दोनों के गुणों को मिला दिया जाए, तो यह मेल आपके लिए और भी बेहतर साबित होता है, जानते हैं कैसे -

    Posted By:   Rhiday Yadav        Read More >>


  • आम तौर पर होली के दिन कई लोग होलिका में लकड़ियों के साथ साथ कई अन्य चीजें भी डाल देते हैं जिससे प्रदूषण फैलता है। लकडिय़ां भी अलग अलग तरह की होती है जिसका धुआं स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। ऐसे में जैसलमेर में अनूठी पहल के तहत गोबर के कंडोंं से होलिका दहन का प्रयास किया जा रहा है और भास्कर ने भी इस मुहिम को जनता तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया है। गो गीता गायत्री सेवा समिति ने जैसलमेर की गोशालाओं के संचालकों के साथ मीटिंग कर इस बार होलिका में लकड़ियों की जगह गोबर के कंडों के इस्तेमाल पर जोर देने का आह्वान किया है। गोशाला संचालक भी तैयार हैं। अब बस जरूरत है तो शहरवासियों के इसके प्रति जागरूक होने की।

    Posted By:   Rhiday Yadav        Read More >>


View All Blogs & News

Testimonials

  • "Thank you for Your Prompt Support & Timely Delivery"

    I have received all the contents and am in use of it. Thank you for your prompt support and timely delivery. I will reach out for more items in future.
    Mallik Tadepalli -FairFax, Virginia, USA(America) Reviewed on Tues, 13/079/2016 - 05:34
  • "We are really speechless to express our happiness"

    We are really speechless to express our happiness after seeing all these products from India. This indicates how you are serving the people. We really pray for the Gaukranti to grow many times in the future.
    P.R.Sinha -The University of Tokyo, JAPAN Reviewed on Mon, 25/07/2016 - 18:12
  • "Thank you for this service"

    There is always room for some improvement. But the five star is for helping our happy, holy, cute cows "The lord of all animals."
    Raj Sekhar -Kolkata, West Bengal Reviewed on Mon, 22/02/2016 - 21:02
  • "Life savers in today's contaminated environment"

    One should praise this effort of yours for providing sudhh desi product that too made of Indian breed Cow's milk etc.. Looking forward for long term association.
    Pankaj Kumar Jha -Pune, Maharashtra Reviewed on Mon, 22/02/2016 - 14:36
  • "FOR REAL EXPERIENCE GHEE SHOULD BE IN GLASS CONTAINER"

    IT WAS REALLY GHEE BUT FOR BETTER AROMA I THINK GHEE SHOULD BE PACKED IN GLASS CONTAINER FOR LONG LASTING AROMA OF THE REAL COW GHEE.
    Vipin Singh -New Delhi Reviewed on Mon, 22/02/2016 - 14:10
 
Write Your Feedback